Credit Card क्या होता है?

Credit Card

Credit Card एक प्रकार का बैंक कार्ड है, जिसमे आपको एक उधार लिमिट दी जाती है, और आप उस उधर लिमिट का उपयोग अपने खर्चे या शॉपिंग के लिए कर सकते हैं, इसके बाद आपको महीने के अंतिम में जितना आपने खर्च किया है, वो भुगतान करना होता है। आपने सिम खरीदते समय पोस्टपेड सिम के बारे में सूना होगा, ठीक इसी प्रकार से ये कार्ड काम करता है।

क्रेडिट कार्ड एक तरह का उधार कार्ड होता है। जिसके आधार पर आप खरीददारी कर सकते हैं और बिल का भुगतान कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड की बिल का भुगतान नियत तारीख तक किया जा सकता है।

Credit Card क्या होता है? विस्तार से जानिए

क्रेडिट कार्ड यानी उधारी खाता। सोचिए जब आपके पास कैश न हो लेकिन आपको खरीदारी करना हो तो आप क्या करेंगे? जवाब सभी का अलग हो सकता है। लेकिन, जिनके पास Credit Card होता है वह बोलेंगे टेंशन नहीं बिल का भुगतान Credit Card से कर देंगे। Credit Card से बिना कैश खरीददारी कर सकते हैं।

यह उधारी खाता की तरह है। इससे आप खरीददारी की बिलों का भुगतान करते रहिए और महीने के अंतिम में एक बार अपने Credit Card की बिल का भुगतान कर दीजिए। 

Credit Card

आपके पास क्रेडिट कार्ड क्यों होना चाहिए?

उपयोग करने में आसान होने के अलावा, निम्नलिखित कारणों से क्रेडिट कार्ड होना आवश्यक है:

  • एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाने में मदद करता है
  • 45 दिनों तक का क्रेडिट-फ्री पीरियड मिलेगा
  • ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से आसान ट्रांजेक्शन
  • आकर्षक रिवॉर्ड, कैशबैक, छूट, ऑफ़र,आदि के साथ आता है 
  • इमरजेंसी की स्थितियों में काम आता है
  •  आप इसकी मदद से बड़ी खरीददारी कर सकते हैं और बाद में EMI के जरिए भुगतान कर सकते हैं
  • सभी ट्रांजेक्शन सुरक्षित होते हैं क्योंकि उन्हें OTP और पिन वैरिफिकेशन की आवश्यकता होती है

क्रेडिट कार्ड की जरूरत

Credit Card आज के दौर में दैनिक आवश्यकता बन गया है। खरीदारी से लेकर कई जरूरी कार्यों में लोग Credit Card का प्रयोग करते हैं। क्या आप जानते है की Credit Card का कारोबार बढ़ाने में भी उपयोग किया जा सकता है।आपका सवाल होगा कैसे?

तो इसे इस तरह भी समझ सकते है-

Credit Card भी एक तरह का लोन ही होता है। यह बात अलग है की यह लोन अग्रिम मिलता है यानी जब आपको जरूरत हो तब आप खरीददारी कर सकते हैं।

कारोबार में भी कुछ ऐसी जरूरतें अचानक आ जाती है, जैसे कोई किसी उपकरण की जरूरत या किसी सामान की जरूरत जिससे कारोबार की उत्पादकता प्रभावित हो रही हो तो इसे किसी भी कीमत पर पूरा करना ही होता है। ऐसी किसी भी जरूरत के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग किया जा सकता है। सबसे बड़ी बात अगर आप समय से अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान कर रहे है तो आप को बिज़नेस लोन या पर्सनल लोन लेने में कोई दिक्कत नहीं

Also Read Top 5 Loan Application

क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए

भारत में बहुत सारे बैंक उपलब्ध हैं और लगभग सभी बैंक क्रेडिट कार्ड अपने कस्टमर को देते हैं कस्टमर अपनी पसंद से या फिर उन्हें जो बैंक ज्यादा पसंद है वह क्रेडिट कार्ड उस बैंक से लेते हैं क्रेडिट कार्ड को लेने के लिए भारत के अधिकतर बैंकों ने ₹15000 की न्यूनतम मासिक वेतन का नियम बनाया है।

Credit Card

क्रेडिट कार्ड आवेदन के लिए ज़रूरी दस्तावेज

पहचान पत्र और हस्ताक्षर प्रमाण- पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, कर्मचारी पहचान पत्र और सरकारी कर्मचारियों के मामले में कर्मचारी पहचान पत्र।

निवास प्रमाण-

 बैंक स्टेटमेंट, रेंट एग्रीमेंट, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, टेलीफोन / बिजली / पानी / क्रेडिट कार्ड बिल या प्रॉपर्टी टैक्स।

उम्र प्रमाण- मतदाता पहचान पत्र, माध्यमिक विद्यालय प्रमाणपत्र (कक्षा 10), जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, आधार कार्ड, पेंशन पेमेंट ऑर्डर या एलआईसी पॉलिसी का प्राप्ति प्रमाण।

वेतन पाने वाले व्यक्ति के लिए आय प्रमाण : हाल ही की 3 महीने की सैलरी स्लिप, छह महीने के लिए सैलरी बैंक अकाउंट के स्टेटमेंट।

स्व–रोजगार करने वाले व्यवसायियों / पेशेवरों के लिए आय का प्रमाण:

 हाल ही का इनकम टैक्स रिटर्न और व्यापार लगातार चलने के प्रमाण के साथ अन्य प्रमाणित वित्तीय दस्तावेज।

Types Of Credit Card

ट्रैवल क्रेडिट कार्ड – ट्रैवल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप सभी एयरलाइन टिकट बुकिंग, बस और रेल टिकट बुकिंग, कैब बुकिंग और भी बहुत कुछ पर छूट का लाभ उठा सकते हैं. जब भी आप टिकट बुकिंग करते है तो आपको कुछ न कुछ पॉइंट्स मिलते है जो की आप बाद में रिडीम कर सकते है

फ्यूल क्रेडिट कार्ड –

 फ्यूल क्रेडिट कार्ड की मदद से फ्यूल सरचार्ज छूट का लाभ उठाकर आप पेट्रोल पंप के द्वारा चलाये गए ऑफर्स का लाभ उठा सकते है इसके अलावा आप अतिरिक्त रिवॉर्ड प्वॉइंट्स अर्जित कर पुरे वर्ष में काफी पैसे बचा सकते है

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड – इस तरह के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर निश्चित रूप से कोई न कोई रिवॉर्ड (पुरस्कार) मिलता है। कुछ कार्ड पर कैशबैक का ऑफर भी मिलता है। आप कार्ड से कहीं पेमेंट करते हैं, तो आपको एक या दो प्रतिशत का कैशबैक मिलेगा।

शॉपिंग क्रेडिट कार्ड –

 शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से खरीदारी या ट्रांज़ैक्शन पर छूट का लाभ उठाने के लिए पार्टनर स्टोर पर ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीदारी करें. इस कार्ड का उपयोग कर के आप पार्टनर स्टोर के साल भर कैशबैक, डिस्काउंट वाउचर और अधिक का लाभ उठा सकते है

सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड

जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर यानी सिबिल स्कोर बहुत खराब हो उनको सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहिए। ख़राब क्रेडिट स्कोर वालों के लिए यह कार्ड बहुत उपयोगी साबित होता है। आप कोई नया खाता खोलते हैं या लोन के लिए अप्लाई करते हैं, तो सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के जरिए अपना क्रेडिट स्कोर सही कर सकते हैं।

बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड – 

जब बहुत ज़्यादा ब्याज या पेनाल्टी से बचने के लिए आप बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। यह आपके मौजूदा क्रेडिट कार्ड के बकाए को कम करने में मददगार होता है। ऐसे कार्ड्स में आपको बकाया चुकाने के लिए 6 से 21 महीने तक मिल जाते हैं। हां, इसके इस्तेमाल में आपको एक बार बैलेंस ट्रांसफर फीस देनी होती है, जो कुल रकम की 5% तक हो सकती है।

क्रेडिट कार्ड के फ़ायदे


1. Credit Card से आप अपने अकाउंट में जमा रक़म से अधिक की शॉपिंग कर सकते हैं.
2. इमर्जेंसी में क्रेडिट कार्ड से भुगतान करके आप परेशानी से बच सकते हैं.
3. इस बात से कोई फ़र्क नहीं पड़ता है कि आपके खाते में कितनी जमाराशि है. अकाउंट में कम रक़म होने पर भी क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग कर सकते हैं.

Benefits Of Credit Cards
4. क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने पर आपको कैशबैक और रिवॉर्ड पॉइंट मिलते हैं; जिससे शॉपिंग के दौरान भुगतान करने पर लाभ मिलता है.

5. शॉपिंग के दौरान आप जितना ज़्यादा क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, उतना ही कैशबैक और रिवॉर्ड पॉइंट अधिक मिलते हैं.

6. इन रिवॉर्ड पॉइंट का लाभ आप अगली शॉपिंग में उठा सकते हैं.

7. क्रेडिट कार्ड से क्रेडिट स्कोर का पता चलता है; यदि आप समय क्रेडिट बिल का भुगतान करते हैं, तो आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है; और क्रेडिट स्कोर अच्छा होने से लोन मिलने में आसानी होती है.

8. डेबिट कार्ड की तुलना में क्रेडिट कार्ड में धोखाधड़ी होने की संभावना कम होती है.

9. यदि धोखाधड़ी होती भी है; तो आसानी से इसका पता चल जाता है और बैंक इस पर कोई चार्ज वसूल नहीं करता है.

10. क्रेडिट कार्ड पर कोई अनुअल चार्ज़ नहीं लगता है.

एक नज़र क्रेडिट कार्ड से होनेवाली हानि पर भी


1. समय पर क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान न करने पर; बैंक आपसे फाइन चार्ज़ कर सकता है. यह फाइन बहुत अधिक होता है.
2. यदि निश्‍चित समय पर क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान नहीं करते हैं; तो बैंक बकाया रकम के साथ-साथ उसपर लगनेवाला ब्याज़ भी आपसे वसूल करेगा.
3. क्रेडिट कार्ड की लिमिट से ज़्यादा ख़रीदारी करने पर बैंक उस अतिरिक्त फीस बिल में जोड़ देता है.
4. समय पर बिल का भुगतान न करने पर बैंक प्रतिदिन के हिसाब से चार्ज करता है.

किस तरह काम करता है आपका Credit Card?

क्या आप जानते हैं कैसे काम करता है आपका क्रेडिट कार्ड? आइए इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं

  1. बैंक किस आधार पर देते हैं क्रेडिट कार्ड? – अगर आप बैंक से उधार रकम लेने के बाद उसे चुकाने योग्य हैं; तभी बैंक आपको क्रेडिट कार्ड जारी करते हैं; आप क्रेडिट कार्ड से रकम खर्च कर वास्तव में कार्ड जारी करने वाले बैंक से रकम उधार लेते हैं; जिसे आपको तय समय में चुकाना पड़ता है.
  2. पैसे चुकाने के लिए 60 दिन का समय – अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुकाते तो; आपको उस पर जुर्माना भरना पड़ता है| क्रेडिट कार्ड का बिल जेनरेट होने; और खरीदारी करने के बीच आपको 50-60 दिन की कर्जमुक्त अवधि मिलती है|
  3. You Must Read It Apply Instant Loan BOB(Bank Of Baroda)

क्रेडिट कार्ड की शर्तें व नियम

शुरुआती और सालाना शुल्क – कुछ ऊंचे रकम वाले क्रेडिट कार्ड को छोड़कर कई आजीवन क्रेडिट कार्ड निःशुल्क दिए जाते हैं; अतः ऐसे क्रेडिट कार्ड ही लेना चाहिए जिसमें कोई भी शुरुआती शुल्क न हो।

बकाया राशि हस्तांतरण सुविधा – कुछ ग्राहक क्रेडिट कार्ड को अल्पकाल के लिए ऋण की सुविधा के तौर पर लेते हैं; जब ग्राहक एक क्रेडिट कार्ड से ऋण का बोझ नहीं संभाल पाता; तो वह अपने ऋण अन्य कार्ड में हस्तांतरित कर देता है।

ब्याज दर –

 यदि अल्पकालिक ऋण के तौर पर क्रेडिट ले रहे हैं तो; ब्याज दर का अवश्य ध्यान रखना चाहिये। प्रायः यह; दर १.३३ से ३.१५ प्रतिशत प्रति महीने की दर से बदलती रहती है; और यह विभिन्न Credit Card पर निर्भर करता है।

ऋणावधि – सामान्यतया बैंक २१-५२ दिनों की ऋण अवधि प्रदान करते हैं।; यह क्रेडिट कार्ड के प्रकार और लेने-देने की तारीख पर निर्भर करता है; यदि ब्याज दर के बिना ऋण अवधि रहेगी तो; उतना ही ज्यादा दिनों तक बिना ब्याज भरे राशि का भुगतान करना पड़ेगा।

ऋण सीमा – ऋण सीमा क्रेडिट कार्ड से खर्च की जाने वाली यह अधिकतम राशि होती है।
ग्राहक सेवा – बेहतर रिश्ते वाले बैंक से क्रेडिट कार्ड लेना ज्यादा फायदेमंद होगा।

इनामी अंक और नकदी वापसी – सभी बैंक ग्राहकों को इनामी अंक (क्रेडिट पाइंट) या नकद वापसी (कैश बैक) देकर; आकर्षित करने का प्रयास करते हैं ;So जो ग्राहक नियमित तौर पर क्रेडिट कार्ड प्रयोग करते हैं उन्हें इस योजना में शामिल होना चाहिए।

खरीदारी की सुविधा – एक अच्छा क्रेडिट वहीं है जिसे देश के साथ-साथ विदेशों में भी दुकानदारों द्वारा स्वीकार्य हो; अधिकांश आउटलेट से संबंधित, छूट की सुविधा और खरीदारी की सुविधाओं से युक्त क्रेडिट कार्ड बेहद फायदेमंद रहता है।

You need to know about this also Top 5 Loan Application

तो अब तक आप यह समझ चुके होंगे कि; Credit Card Kya Hota Hai और क्रेडिट कार्ड का उपयोग किस कार्य के लिए होता है।

About naveenduhan

Check Also

PFA Full Form in Mail | पीएफए की फुल फॉर्म क्या है?

दोस्तों, अगर आप इन्टरनेट का उपयोग करते हैं तो आप Email के बारे में भी …