सेविंग अकाउंट क्या है इसके प्रकार (Saving Account in Hindi)

Saving account Kya Hai In Hindi – दोस्तों जिस युग में हम सब रह रहे है वह बहुत ही आगे निकल चुका है और अगर हम इस दुनिया के लोगों के साथ जीना चाहते है तो हमें इनके जितना तेज़ चलना होगा, हमें ये समझना होगा कि आज का मानव इतना फ़ास्ट क्यों है | जब हम इस बारे में अच्छे से पढ़ेंगे तो पता चलेगा कि आज का मानव बल से नही बुद्धि से काम ले रहा, आज टेक्नोलॉजी का जमाना है, आज हार्ड वर्क का नही स्मार्ट work करने का जमाना है |आप जो भी काम कर रहे है उसमें hardness नही smartness दिखाइये |

Smartness समझने के लिए सबसे अच्छा उदाहरण है कि हम सब saving account क्या है इसी को समझ ले | आप अगर पहले के लोगो के बारे में सुने होंगे तो आपको पता होगा कि वो लोग अपना पैसा या धन कैसे संचित करते थे यदि नही सुने है तो हम आपको बताते है |

पहले के लोग अपने रुपये को सोने में तब्दील करके और घर के लिए कोने में मिट्टी खोद कर गाड़ देते थे जो समय के साथ खराब होता था और उसकी कीमत में गिरावट आ जाती थी लेकिन आज का मानव अपने पैसों को saving account में संचित कर देता है जिससे उसका पैसा भी सुरक्षित रहता है और कुछ मुनाफा भी मिल जाता है |

यदि आप भी मन बना रहे है कि आप भी अब हार्ड work नही smart work करेंगे और अपने पैसों को बैंक में Saving Account में  सुरक्षित कीजिये |

बचत खाता क्या है (What is Saving Account in Hindi)

Saving Account इस प्रकार के अकाउंट को कहते हैं जिसका मूल उद्देश्य पैसों की बचत करना होता है. हिंदी में इसे बचत खाता भी कहते हैं | सेविंग बैंक अकाउंट में Cashflow बहुत कम होता है मतलब कि इसमें पैसे निकालने की दर पैसे जमा करने की दर से बहुत कम होती है |

Saving Account में ग्राहक की बैंकिंग सुविधा को ध्यान में रखते हुए बैंक अपने ग्राहकों को पासबुक, चेकबुक, डेबिट कार्ड, क्रेडिटकार्ड, मोबाइल बैंकिंग, इन्टरनेट बैंकिंग आदि प्रकार की सुविधा उपलब्ध करवाते हैं.

यदि आप saving account में पैसा रखेंगे तो इसमें आपको कुछ ब्याज भी मिलता है और सबसे अहम बात आपको जब भी जरूरत पड़ेगी बैंक आपको आपका पैसा दे देगा तो है न मुनाफे का सौदा एक तो आपका पैसा सुरक्षित रहेगा ऊपर से कुछ कमाई भी हो जाएगी और आपको जरूरत पर मिल भी जायेंगे |

अब आप सोच रहे होंगे कि बैंक हमे ब्याज क्यों देगा , तो आइए इसे भी समझ लेते है. दरअसल जो बैंक होता है वो एक middle man या बिचोलिये की तरह काम करता है |

जैसे जो बड़े या छोटे व्यापारी होते वो बैंक से लोन लेते है तो इतना पैसा बैंक कहा से लाएगा तो बैंक क्या करता है आम जनता का पैसा बैंक में जमा करवाता है और वही पैसा व्यापारियों को 12%,15% ब्याज पर लोन दे देता है और आम जनता को 3%, 5% ,8% ब्याज पर उनका पैसा अपने पास रखा रहता है |

Saving account मूलतः उनके लिए ही है जो बैंक से कभी कभार ही पैसा निकालते है या उसमे पैसा डालते है यदि आपको रोज ट्रांजेक्शन करना है तो आपके पास दूसरे ऑप्शन है | Saving account मूल रूप से उनके लिए है  जिनका पैसा महीने में आता हो मतलब उनका monthly payment आता हो या फिर यदि कोई भेजा हो वैसा पैसा या कुछ घर पर संचित राशि जमा करनी हो जैसे किसान जो अपना अनाज बेच कर कुछ पैसा बचाना चाहता हो उनके लिए |

बचत खाता के प्रकार (Types of Saving Account in Hindi)

जरूरतों के हिसाब से सेविंग अकाउंट भी अलग – अलग प्रकार के होते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख प्रकार के सेविंग अकाउंट निम्न हैं –

#1 – Regular Saving Account (नियमित बचत खाता)

यह बचत खाता सबसे सामान्य प्रकार का बचत खाता है, जो कि दिन -प्रतिदिन की बैंकिग आवश्यकताओं के लिए सही है. इस प्रकार के अकाउंट में आपको न्यूनतम शेष राशि बनाये रखनी होती है |

#2 – Basic Saving Account (सामान्य बचत खाता)

जिस प्रकार आपको नियमित बचत खाते में न्यूनतम शेष राशि बनाये रखनी होती है लेकिन यह खाता उसके बिलकुल विपरीत है इसमें आपको न्यूनतम शेष राशि बनाये रखने की जरुरत नहीं होती है | सामान्य बचत खाते को आप जीरो बैलेंस में भी खोल सकते हैं |

#3 – Women Saving Account (महिला बचत खाता)

इस प्रकार के बचत खाते को महिलाओं की आवश्यकताओं के अनुरूप बनाया गया है इसमें महिलाओं को खरीददारी और लेन – देन में अतिरिक्त लाभ मिलता है |

#4 – Kids Saving Account (बच्चों का बचत खाता)

इस प्रकार का बचता खाता उन माता – पिता के लिए बनाया गया है जो कि अपने बच्चे के भविष्य के लिए एक निश्चित राशि जमा करवाना चाहते हैं |

#5 – Senior Citizen Saving Account (वरिष्ठ नागरिकों का बचत खाता)

यह बचत खाता एक नियमित बचत खाते की तरह है, जहां वरिष्ठ नागरिकों को कई लाभ मिलते हैं, जैसे ब्याज दरें, स्वास्थ्य, निवेश, बीमा के लाभ इत्यादि। इस खाते के तहत वरिष्ठ नागरिकों कोदिए जाते हैं।

#6 – Salary Saving Account (वेतन बचत खाता)

जिस दिन आपको वेतन प्रदान किया जाता है, तो बैंक के किसी कर्मचारी खाते में कंपनी खाते से धन स्थानांतरित कर दिया जाता है।

#7 – Family Saving Account (परिवार बचत खाता)

यह एक प्रकार का नियमित बचत खाता है जो कि पुरे परिवार का होता है. इस प्रकार के बचत खाते से एक पूरा परिवार लाभ उठा सकता है |

इन्हें भी पढ़ें –

Early Salary से लोन कैसे लें – Early Salary App Review in Hindi
Branch App से लोन कैसे ले – Branch App Se Personal Loan Kaise le

बचत खाता खुलवाने के लिए आवेदन कैसे करें 

आप अपने गाँव या शहर में नजदीकी किसी भी बैंक में सेविंग अकाउंट खुलवा सकते हैं, इसके लिए पहले आपको बैंक से एक सेविंग अकाउंट खुलवाने का फॉर्म लेना होगा, और उसमें सभी बेसिक Details को भरना होगा साथ में ही आपको जो भी सुविधाएं चाहिए उनमें भी टिक कर लें जैसे कि ATM कार्ड, चेकबुक, इन्टरनेट बैंकिंग आदि |

इसके बाद आप आवश्यक दस्तावेजों और बैंक द्वारा निर्धारित राशि के साथ आवेदन फॉर्म को बैंक में जमा करवा दीजिये |  फॉर्म जमा करने के 24 से 48 घंटे के अन्दर आपका Saving Account खुल जाएगा |

बचत खाता खुलवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज 

बचत खाता खुलवाने के लिए आपको निम्न दस्तावेजों की जरुरत पड़ेगी |

  • आवेदन फॉर्म
  • पहचान पत्र (आधार कार्ड, वोटर कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस आदि)
  • निवास प्रमाण पत्र (गैस बिल, बिजली बिल आदि)
  • 2 पासपोर्ट साइज़ की फोटो

बचत खाता खुलवाने के लिए आवश्यक राशि 

बचत खाता खुलवाने के लिए आपको बैंक के द्वारा निर्धारित की गयी न्यूनतम राशि बैंक में जमा करवानी होती है, कुछ बैंकों में यह राशि 100 रूपये भी हो सकती है और कुछ में 1000. बहुत सारे बैंक 0 बैलेंस पर भी सेविंग अकाउंट खुलवा देते हैं |

बचत खाते में मिलने वाली ब्याज की दर 

अलग – अलग बैंकों में saving account में मिलने वाली ब्याज की दर भी अलग – अलग होती है. अधिकतर बैंकों में 3 से 4 प्रतिशत सालाना ब्याज मिलता है और किसी बैंकों में मिलने वाली ब्याज की दर ज्यादा भी हो सकती है |

लेकिन Saving Account में ब्याज मिलने की भी कुछ शर्ते होती हैं आपको Minimum Account balance maintain करना होता है | जब आप सेविंग अकाउंट खुलवाते हैं तो बैंक एक राशि निर्धारित कर देता है जिसे हमेशा आपके अकाउंट में होना चाहिए | यह राशि अलग – अलग बैंकों में अलग – अलग हो सकती है |

अधिकतर बैंकों में Saving Account में न्यूनतम बैलेंस 500 रूपये से 10000 रूपये तक होती है जिसे कस्टमर को Maintain करना पड़ता है |

बचत खाते के फायदे

Saving account खुलवाने से बहुत फायदे भी है, जिनमें से इसके कुछ फायदे निम्न प्रकार से है –

  •  Saving Account इसका सबसे बड़ा फायदा तो यही है कि आपका पैसा सुरक्षित रहता है |
  • Saving Account में पैसा सुरक्षित रखने के साथ – साथ आपको अपने पैसों पर ब्याज भी मिलता है |
  • Saving Account को Operate करना बहुत ही आसान है, इसमें आपको भुगतान के बहुत सारे तरीके मिल जाते हैं, जैसे कि – चेच, डेबिट कार्ड, ऑनलाइन बैंकिंग आदि |
  • जरुरत पड़ने पर आप saving account से अपने पैसे निकाल सकते हैं |
  • आप 0 बैलेंस पर भी saving account खुलवा सकते हैं |

बचत खाते के नुकसान

हर सिक्के के दो पहलु होते हैं. एक ओर जहाँ Saving Account के फायदे हैं वहीँ दूसरी ओर इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे कि –

  • अगर आप बैंक द्वारा तय की गयी न्यूनतम राशि मेंटेन करके रखनी पड़ती है. अगर आप यह राशि मेंटेन नहीं करते हैं तो बैंक आपके खाते से कुछ राशि जुर्माने के तौर पर काटने लगता है | अलग अलग बैंक अलग अलग राशि काट सकता है ये उस बैंक के ऊपर है कि उसने कितना जुर्माना तय किया है |
  • सेविंग अकाउंट में आप बैंक के द्वारा तय किये गए निश्चित संख्या में लेन – देन कर सकते हैं | अगर आप तय सीमा से अधिक बार लेन – देन करेंगे तो आप पर अतिरिक्त शुल्क जर्माने के तौर पर लगता है |
  • सेविंग अकाउंट में पैसे जमा करने की तो कोई सीमा नहीं होती है लेकिन निकलने की सीमा रहती है | जैसे आप ATM से 6 महीने में 30 बार ही पैसे निकाल सकते हैं |

बचत खाते पर मिलने वाली अन्य सुविधाएं 

बैंक saving एकाउंट धारक को कुछ और भी फैसिलिटी देता है जैसे आप बैंक से DD (डिमांड ड्राफ्ट), RTGS ,NEFT कर सकते है, इसके अलावा बैंक आपको credit card, debit card , check बुक देता है जिससे आप ऑनलाइन shopping कर सकते है |

ये सुविधा हर बैंक का अलग अलग होता है कोई कोई बैंक इस सुविधा को फ्री में भी उपलब्ध करवाती है तो कोई चार्ज भी करती है, हालांकि DD के लिए तो हर बैंक चार्ज करती है लेकिन RTGS और NEFT जैसी सुविधाएं कुछ बैंक निःशुल्क उपलब्ध करवाती है |

इसके अलावा लोगो को ये डर रहता है कि यदि हम पैसा जमा किये और बैंक डूब गया तो क्या होगा तो डरने की बात नही मौजूदा सरकार की वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण जी ने ये घोषणा की है कि यदि किसी बैंक में आपकी 5 लाख तक राशि जमा है और बैंक भाग जाती है तो उस आदमी को सरकार 5 लाख तक राशि अपनी तरफ से देगी तो ये डर भी खत्म हो गया कि पैसा डूब जाएगा |

तो इस तरह यदि आप एक system के साथ जुड़कर काम करेंगे तो आपका भी भला होगा और दूसरों का भी होगा और शायद इसी को स्मार्ट work कहते है |

बचत खाते से जुड़े कुछ सामान्य प्रश्न 

सेविंग अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

सेविंग अकाउंट अनेक प्रकार के हो सकते हैं जिनमें से 7 प्रकार के सेविंग अकाउंट निम्न हैं –

  • नियमित बचत खाता, सामान्य बचत खाता, वेतन बचत खाता, परिवार बचत खाता, महिला बचत खाता, बच्चों का बचत खाता, वरिष्ठ नागरिकों का बचत खाता |

सेविंग अकाउंट का क्या मतलब होता है?

सेविंग अकाउंट ऐसे अकाउंट को कहा जाता है जिसमें कोई व्यक्ति अपनी आमदमी का कुछ प्रतिशत हिस्सा बैंकों में अपने भविष्य के लिए जमा करता है |

सेविंग अकाउंट में कितने पैसे रख सकते हैं?

सेविंग अकाउंट में पैसे रखने की कोई सीमा नहीं होती है आप जितना चाहे उतना पैसा सेविंग अकाउंट में रख सकते हैं |

बचत खाते का मुख्य उद्देश्य क्या है?

बचत खाते का मुख्य उद्देश्य पैसे जमा के रूप में स्वीकार करना और जरुरत पड़ने पर उस पैसे को निकालना है |

सेविंग अकाउंट कितने रूपये में खुलता है?

आप जीरो बैलेंस पर भी सेविंग अकाउंट खुलवा सकते हैं और चाहे तो बैंक के द्वारा निर्धारित की गयी राशि पर भी खुलवा सकते हैं यह राशि 100 रूपये से 1000 तक भी हो सकती है |

 अंतिम शब्द – सेविंग अकाउंट क्या होता है

आशा है आज आप दो बातें सीखे होंगे पहला की स्मार्ट work करना आज के युग के लिए कितना जरूरी है और दूसरा अगर आपको  पैसे संचित करने है तो saving account में कीजिये. इसके साथ ही आपको ये भी पता चल गया कि saving account Kya Hai और यह कैसे काम करता है | यदि आपको जनकारी अच्छी लगी तो दोस्तो के साझा कीजिये और हमें सपोर्ट कीजिये |

About naveenduhan

Check Also

FairMoney App से लोन कैसे ले? – FairMoney App Personal Loan Apply in Hindi

FairMoney App Se Loan Kaise Le: स्वागत है दोस्तों Loankaise के एक और नए लेख …

Leave a Reply

Your email address will not be published.