Bank Account क्या है एवं इसके प्रकार कितने है जानें (Bank Account in Hindi)

Types of Bank Account in Hindi – बैंक अकाउंट जिसके बारे में आप में से सभी लोगों ने सुना होगा और आपका भी किसी न किसी बैंक में अकाउंट जरुर होगा पर आप जानते हैं Bank Account क्या होता है, बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं | अगर आपको यह जानकारी नहीं है तो आप एकदम सही लेख पर आये हैं |

इस लेख के द्वारा हम आपको बैंक अकाउंट के बारे में पूरी विस्तृत और सटीक जानकारी देंगे | इस लेख को पूरा पढने के बाद आपके मन में बैंक अकाउंट से जुड़े सभी संदेह दूर हो जायेंगे | इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें यह लेख आपके लिए बहुत उपयोगी और फायदेमंद साबित होने वाला है, तो चलिए बिना देरी के शुरू करते हैं इस लेख को |

बैंक अकाउंट क्या है (What is Bank Account)

बैंक अकाउंट या बैंक खाता बैंकों के द्वारा प्रदान करवाए जाने एक वित्तीय खाता होता है जिसमें ग्राहक और बैंक के बीच सारी लेन-देन की प्रक्रिया दर्ज होती है | बैंक अकाउंट ही वह माध्यम होता है जिसके द्वारा बैंक लोगों को अपने से जोड़ता है. किसी बैंक के द्वारा दी जाने वाली सेवाओं का लाभ उठाने के लिए ग्राहक के पास बैंक खाता होना जरुरी है |

बैंक अकाउंट के प्रकार (Types of Bank Account in Hindi)

प्रत्येक बैंक अपने द्वारा प्रदान कराये जाने वाले अकाउंट के लिए कुछ नियमें या शर्ते निर्धारित करता है उसी के आधार पर बैंक अकाउंट को चार भागों में बांटा जा सकता है –

  • Current Account (चालू खाता)
  • Saving Account (बचत खाता)
  • Fixed Deposit Account (सावधि जमा खाता )
  • Recurring Deposit Account (आवर्ती जमा खाता)

अब इनके बारे में एक – एक कर जानते हैं –

1 – Current Account (चालू खाता)

Current Account या चालू खाते में खाताधारक को एक तय की गयी राशि अपने अकाउंट में रखनी पड़ती है जिससे कि Minimum Balance का Charge न कटे और खाता बंद होने से भी बचे |

Current Account में Cash Flow तेजी से होती है मतलब कि लाखों रूपये खाते में आते हैं तो लाखों रूपये निकाल भी लिए जाते हैं | चालू खाते में Withdrawal और Deposit की दर लगभग बराबर रहती है | चालू खाते में पैसा जमा करने पर किसी भी प्रकार का ब्याज खाताधारक को नहीं मिलता है, बल्कि बैंक आपसे सुविधा देने के चार्ज वसूलती है |

चालू खाते में आप दिन में कितनी भी बार पैसे Withdrawal और Deposit कर सकते हैं इसकी कोई लिमिट नहीं होती है | अधिकतर बैंक चालू खाते में Transfer, Direct Debit, Overdraft, Internet बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग जैसी तमाम सुविधाएं देती हैं. चालू खाता मुख्य रूप से कंपनी, फर्म या उद्योगों के लिए होता है |

2 – Saving Account (बचत खाता)

जैसा कि नाम से ही पता चलता है Saving Account पैसों की बचत करने के लिए खुलवाये जाते हैं. Saving Account को खुलवाने के लिए बैंक के द्वारा तय की गयी एक निश्चित राशि जमा बैंक में करवानी पड़ती है जिससे कि Saving Account Open हो सके. यह राशि 100 रूपये से लेकर 1000 तक हो सकती है |

Saving Account में Cashflow कम होता है मतलब इसमें पैसे जमा तो करते हैं लेकिन जमा पैसों को आवश्यकता पड़ने पर ही निकाला जाता है | अर्थात Saving Account में पैसे जमा करने की दर निकालने की दर से अधिक रहती है |जैसे कि चालू खाता में आपको किसी भी प्रकार का कोई ब्याज नहीं मिलता है लेकिन बचत खाते में पैसे जमा करने पर आपको ब्याज मिलता है |

Saving Account में आप एक दिन में बैंक द्वारा तय किये गए निश्चित संख्या में लेन – देन कर सकते हैं और अगर आप तय सीमा से अधिक बार लेन – देन करते हैं तो बैंक आप पर शुल्क लगाता है | अधिकतर बैंकों में यह तय सीमा 5 की होती है | मतलब आप दिन में 5 Transaction ही फ्री में कर सकते है और अगर आप 5 से ज्यादा Transaction करते हैं तो आप पर अतिरिक्त शुल्क लगेगा |

Saving Account में आप कभी भी अपने खाते से पैसे निकाल या जमा कर सकते हैं. पैसे जमा करने में किसी भी प्रकार का कोई बंधन नहीं होता है लेकिन पैसे निकालने में कुछ लिमिट रहती है. जैसे 6 महीने में ATM से 30  बार ही रूपये निकाल सकते हैं | Saving Account में बैंक के द्वारा आपको पासबुक, चेकबुक, डेबिट कार्ड, इन्टरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग आदि की सुविधा दी जाती है जिसकी मदद से आपको बैंकिंग में कोई प्रकार की समस्या न आये |

3 – Fixed Deposit Account (सावधि जमा खाता)

Fixed Deposit Account या सावधि जमा खाता इस प्रकार के खाते को कहा जाता है जिसमें आप एक ही बार पैसे जमा कर सकते हैं और एक ही बार निकाल सकते हैं | भारत में लगभग सभी बैंक जैसे SBI, PNB, ICICI etc. ग्राहकों को Fixed Deposit Account की सुविधा उपलब्ध करवाते हैं |

Fixed Deposit Account को आम बोलचाल की भाषा में FD भी कहा जाता है, इसके अन्य नाम जैसे मियादी जमा खाता, Term Deposit और सावधि जमा खाता भी हैं | Fixed Deposit Account में एक निश्चित समय अवधि के लिए एक विशेष राशि जमा कर दी जाती है और जब वह समय अवधि पूरी हो जाती है तभी आप FD से पैसे निकाल सकते हैं |

अगर आप Fixed Deposit Account से समय अवधि से पहले पैसे निकालते हैं तो बैंक आप पर जुर्माना लगा सकता है और हर बैंक की जुर्माना राशि अलग हो सकती है |  Fixed Deposit Account पर ब्याज अधिक मिलता है. अगर आपके पास बचत अधिक है तो आप एक FD खोल सकते हैं और समय अवधि पूरी होने पर ब्याज के साथ वह पैसे निकाल सकते हैं |

इन्हें भी पढ़ें –

Early Salary से लोन कैसे लें – Early Salary App Review in Hindi
Branch App से लोन कैसे ले – Branch App Se Personal Loan Kaise le

4 – Recurring Deposit Account (आवर्ति जमा खाता)

Recurring Deposit Account (RD) या आवर्ति जमा खाता इस प्रकार के खाते को कहते हैं जिसमें आप एक निश्चित समय अवधि के लिए हर महीने एक विशेष राशि अपने अकाउंट में जमा करवाते हैं | FD की तरह ही RD में भी आप पैसे एक ही बार में निकाल सकते हैं | भारत में अधिकतर बैंक RD की सुविधा ग्राहकों को देते हैं |

RD में एक निश्चित समय के लिए हर महीने निश्चित राशि जमा करनी होती है और जब समय अवधि पूरी हो जाती है तो आप वह पैसे ब्याज सहित निकाल सकते हैं |

जैसे आप किसी बैंक में RD अकाउंट में 3 साल के लिए हर महीने 1000 रूपये जमा करते हैं तो तीन साल पुरे होने के बाद आप आपने पैसों को ब्याज सहित निकाल सकते हैं | Recurring Deposit Account पर ब्याज की दर लगभग Fixed Deposit Account के बराबर ही होती है कुछ बैंकों में यह कम – ज्यादा भी हो सकती है |

RD Account से आप पैसे समय अवधि से पहले भी निकाल सकते हैं पर इसमें आपको मिलने वाले ब्याज की दर में कमी हो सकती है या बैंक आपसे एक निश्चित राशि जुर्माना ले सकते हैं | RD Account उन लोगों के लिए बेहतर है जो हर महीने सैलरी के Base पर काम करते हैं और भविष्य के लिए पैसे जमा करना चाहते हैं |

Recurring Deposit Account में समय अवधि 6 महीने से 10 साल तक की होती है, और RD में जमा की जाने वाली राशि कुछ बैंकों में 100 रूपये भी होती है | आप अपनी आय के आधार पर RD की राशि तय कर सकते हैं |

बैंक अकाउंट के बारे में पूछे जाने वाले सामान्य प्रश्न

सेविंग अकाउंट क्या होता है?

सेविंग अकाउंट इस प्रकार का बैंक अकाउंट होता है जिसे लोग अक्सर पैसों की बचत करने के लिए खुलवाते हैं |

FD क्या होती है?

FD या Fixed Deposit Account एक प्रकार का बैंक अकाउंट होता है जिसमें एक विशेष राशि को एक निश्चित समय अवधि के लिए जमा किया जाता है, इसमें आप एक ही बार पैसे जमा कर सकते हैं और एक ही बार निकाल सकते हैं |

RD क्या होती है?

RD या Recurring Deposit Account इस प्रकार के बैंक अकाउंट को कहा जाता है जिसमें एक निश्चित समय अवधि के लिए हर महीने एक निश्चित राशि जमा की जाती है और समय अवधि पूरी हो जाने पर जमा की गयी राशि को ब्याज सहित प्राप्त कर सकते हैं |

एक व्यक्ति बैंक में कितने अकाउंट खोल सकता है?

एक व्यक्ति बैंक में कितने भी अकाउंट रख सकता है, इनकम टैक्स में ऐसा कोई भी नियम नहीं है कि एक व्यक्ति निश्चित खाते ही बैंक में खोल सकता है |

Conclusion: Types of Bank Account in Hindi

इस लेख को पढने के बाद आपको बैंक अकाउंट और बैंक अकाउंट के प्रकारों (Types of Bank Account) के बारे में अच्छी तरह से समझ आ गया होगा | इस लेख के माध्यम से हमने आपको आसन भाषा में बैंक अकाउंट के प्रकारों को समझाने की कोशिस की है |

उनीद करते हैं आप हमारे द्वारा लिखा गे यह लेख Types of Bank Account in Hindi जरुर पसंद आया होगा इस लेख को सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों  के साथ भी जरुर शेयर करें जिससे उन्हें भी यह उपयोगी जानकारी प्राप्त हो सके |

About naveenduhan

Check Also

PFA Full Form in Mail | पीएफए की फुल फॉर्म क्या है?

दोस्तों, अगर आप इन्टरनेट का उपयोग करते हैं तो आप Email के बारे में भी …

Leave a Reply

Your email address will not be published.